आज के अखबारों की सुर्खियां 15 जुलाई 2021

आज के अखबारों की सुर्खियां 15 जुलाई 2021

कोरोना नियमों के उल्लंघन पर केंद्र के सख्त रवैये की खबर आज सुर्खियों में है। पर्यटन स्थलों और बाजारों में कोरोना नियमों के खुल्लम-खुल्ला उल्लंघन पर सरकार की नाराजगी देते हुए जनसत्ता ने लिखा है- राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में दिशा-निर्देशों का अनुपालन कराने से जुड़े अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करें राज्य। राजस्थान पत्रिका की बड़ी सुर्खी है- जहां कोरोना गाइडलाइन टूटे वहां फिर लगा दिया जाए लॉकडाउन।

जनसत्ता की बड़ी सुर्खी है- गृह मंत्रालय ने राज्यों से पुलिस को निर्देश देने को कहा, निष्प्रभावी हो चुकी धारा के अंतर्गत मामला दर्ज नहीं करें।

प्रधानमंत्री के आज वाराणसी दौरे को भी सभी अखबारों ने महत्व दिया है।

वर्षाकालीन सत्र से पहले 18 जुलाई को सर्वदलीय बैठक बुलाने पर भी अखबारों ने चर्चा की है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के राज्यसभा में सदन के नेता होने को भी कई अखबारों ने साथ ही दिया है।

भारतीय सेना में 147 महिला अफसरों को स्थायी कमीशन देने और आवश्यक प्रशिक्षण देने की खबर दैनिक जागरण, राजस्थान पत्रिका और दैनिक ट्रिब्यून के पहले पन्ने पर है।

दैनिक ट्रिब्यून की यह खबर ध्यान खिंचती है कि अन्न आपूर्ति के लिए गुरूग्राम में लगा देश का पहला- ग्रेन एटीएम। पत्र ने चित्र के साथ लिखा है- गेहूं, चावल और बाजरा का वितरण करने के लिए मशीन में अंगूठा लगाने पर थैले में अनाज भरेगा। एटीएम की तरह इस मशीन से कम राशन, और लंबी लाइन जैसी शिकायतें अब बीते वक्त की बात हुई। इससे सार्वजनिक अनाज वितरण प्रणाली में पारदर्शिता भी आएगी।

दिल्ली और आसपास कल बारिश की झमाझम फुहारों का आनंद लेते बच्चों के चित्र अखबारों में है।

Related posts

Leave a Comment