केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने नई दिल्ली में उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए ‘युक्ति 2.0’ मंच का शुभारंभ किया

yukti

‘युक्ति’ के पूर्व संस्करण के परिणामों को जल्द ही जारी कर दिया जाएगा – श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री, श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आज उच्च शिक्षण संस्थानों में व्यावसायिक क्षमता और इनक्यूबेटेड स्टार्टअप से संबंधित सूचनाओं को व्यवस्थित करने में सहायता प्रदान करने के लिए ‘युक्ति 2.0’ पहल की शुरुआत की। इस अवसर पर ऑनलाइन माध्यम से मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री, श्री संजय शामराव धोत्रे, अतिरिक्त सचिव (उच्च शिक्षा), श्री राकेश रंजन, अध्यक्ष, एआईसीटीई, प्रो. अनिल सहस्रबुद्धे, सदस्य सचिव, एआईसीटीई, डॉ. राजीव कुमार और एमएचआरडी के इनोवेशन सेल के मुख्य नवाचार अधिकारी डॉ. अभय जेरे भी उपस्थित…

Read More

स्कूली छात्रों के लिए इसरो कर रहा है प्रतियोगिताओं का आयोजन

esro

कोविड-19 के प्रकोप के चलते शुरू हुए लॉकडाउन के कारण स्कूलों की पढ़ाई और परीक्षाओं पर असर पड़ने के साथ-साथ छात्रों को अब गर्मियों की छुट्टियां भी घर में बंद रहकर बितानी पड़ रही हैं।  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा शुरू की जा रही ऑनलाइन प्रतियोगिताएं स्कूली छात्रों की इस एकरसता को तोड़ने का अवसर लेकर आयी हैं। इसरो साइबरस्पेस प्रतियोगिता (आईसीसी)-2020 नामक इस पहल के अंतर्गत स्कूली छात्रों के लिए चार वर्गों में अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर केंद्रित प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। इन प्रतियोगिताओं…

Read More

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने आज नई दिल्ली में उच्च माध्यमिक स्तर (कक्षा XI और XII) के लिए वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर जारी किया

11th 12th board news

वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर में विभिन्न उपकरणों और प्लेटफार्मों तक छात्रों के पहुंच के विभिन्न स्तरों को ध्यान में रखा गया है: श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आज नई दिल्ली में उच्च माध्यमिक स्तर (कक्षा XI और XII) के लिए वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर जारी किया। इस कैलेंडर को मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मार्ग दर्शन में एनसीईआरटी द्वारा कोविड-19 के कारण घर पर रहने के दौरान छात्रों को उनके माता-पिता एवं शिक्षकों की मदद से शैक्षिक गतिविधियों में सार्थक रूप से संलग्न रखने के लिए विकसित किया गया है।…

Read More

टिकाऊ ऊर्जा के लिए भौतिक विज्ञान और इलेक्ट्रोकैमिस्ट्री के मेलजोल पर काम कर रहे एनआईटी श्रीनगरके शिक्षकों को प्रेरित किया जाए

nit shri nagar

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) श्रीनगर के डा. मलिक अब्‍दुल वाहिद जिन्‍हें भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा स्‍थापित इंसपायर संकाय पुरस्कार से नवाजा जा चुका है, वह टिकाऊ और सस्‍ते ऊर्जा स्रोत विकसित करने के लिए भौतिक विज्ञान और इलेक्ट्रोकैमिस्ट्री के मेलजोल से ऊर्जा अनुसंधान के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। उनका ध्यान मुख्य रूप से इलेक्ट्रोड और इलेक्ट्रोलाइट भौतिक इलेक्ट्रोकैमिस्ट्री पर है। डॉ.मलिक की वर्तमान अनुसंधान दिलचस्‍पी के प्रमुख अंशों में सोडियम-आयन (एनए-आयन) बैटरी के लिए इलेक्ट्रोड विकास पर भौतिक अनुसंधान शामिल है, जो वर्तमान में…

Read More