भारत सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक कोविड रोधी टीके की 16.54 करोड़ ख़ुराकें निःशुल्क उपलब्ध कराईं

covid22

भारत सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ मिलकर पूरी दृढ़ता के साथ कोविड-19 महामारी से मुक़ाबले का नेतृत्व कर रही है। कोविड से मुक़ाबले में भारत सरकार की 5 बिन्दु की रणनीति का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है टीकाकरण। अन्य चार बिन्दुओं में टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट और कोविड उपयुक्त व्यवहार शामिल हैं। कोविड-19 टीकाकरण की प्रक्रिया के तीसरे चरण को और प्रभावी तथा उदार स्वरूप देते हुए इसे देश भर में 1 मई, 2021 को शुरू कर दिया गया। इस चरण के अंतर्गत टीकाकरण के पात्र नई आयु वर्ग…

Read More

कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के निर्धारण को लेकर सूत्र मॉडल पर कार्य में जुटे वैज्ञानिकों का वक्तव्य

corona-virous

विशेषकर ऐसी परिस्थिति में, जबकि इनमें से कुछ तथ्यों को गलत रूप में समझा गया है और गलत तरीके से उद्धृत किया गया है। समाचार माध्यम के एक हिस्से में हाल की रिपोर्टों से यह पता चलता है कि सूत्र मॉडल पर कार्यरत वैज्ञानिकों ने मार्च में इसकी दूसरी लहर के बारे में सावधान किया था किंतु इसकी ओर ध्यान नहीं दिया गया। यह  गलत है। राष्ट्रीय महामारी से निपटने के कार्य के समन्वय से जुड़े सरकार के अत्यंत वरिष्ठ अधिकारियों में से एक ने हमारे तथ्यों की मांग करते हुए 2…

Read More

योग और प्राकृतिक चिकित्सा कोविड-19 रोगियों को मनोसामाजिक पुनर्वास में सहायता प्रदान करेगी

covid-19resolve

कोविड-19 न केवल लोगों के शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर रहा है बल्कि रोगियों और उनके परिवार के सदस्यों के मनोवैज्ञानिक या मानसिक स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर रहा है। शारीरिक उपचार के साथ मनोवैज्ञानिक देखभाल के महत्व और आवश्यकता को महसूस करते हुए, तीन प्रमुख संस्थानों ने मिलकर कोविड-19 मरीजों के मनोसामाजिक पुनर्वास के लिए एक प्रोटोकॉल विकसित किया है। ये 3 प्रतिष्ठित संस्थान हैं: आयुष मंत्रालय का स्वायत्त निकाय, केंद्रीय योग और प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद (सीसीआरवाईएन), राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य और तंत्रिका विज्ञान संस्थान (एनआईएमएचएएनएस), बेंगलुरु और स्वामी…

Read More

यूपीएससी ने स्थगित किया सिविल सर्विसेज परीक्षा-2020 का साक्षात्कार

upsc pariksha radd

हर साल इन परीक्षाओं का आयोजन तीन चरणों (प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार) में किया जाता है।सोमवार को जारी बयान के मुताबिक, यूपीएससी ने अपनी विशेष बैठक में तेजी से बदलते हालात, स्वास्थ्य स्थितियों, शारीरिक दूरी मानकों समेत लॉकडाउन प्रतिबंधों और महामारी के कारण उत्पन्न परिस्थितियों पर विचार किया।आयोग ने फैसला किया है कि अभी परीक्षाओं और साक्षात्कारों का आयोजन करना संभव नहीं होगा। लिहाजा नौ मई को निर्धारित कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईओ/एओ) भर्ती परीक्षा-2020 को स्थगित किया जाता है। इसके अलावा भारतीय आर्थिक सेवा/ भारतीय सांख्यिकीय सेवा परीक्षा-2020 के…

Read More