आम लोगों और विशेषज्ञों से परामर्श प्राप्त करने के लिए ‘एसटीआईपी 2020 ‘टाउन हॉल मीट’ लॉन्च किया गया

neeti vigyan

नई नीति में सभी हितधारकों के बीच बाधारहित आपसी समन्वय होना चाहिए, इसके लिए श्रृंखला की कमजोर कड़ियों, पृथक रूप से काम करने आदि की पहचान करके इन्हें दूर किया जाना चाहिए। भविष्य, सभी प्रौद्योगिकियों के आपसी तालमेल और एकीकरण पर आधारित होगा। भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार प्रोफेसर के. विजय राघवन और डीएसटी के सचिव प्रोफेसर आशुतोष शर्मा ने 12 जून, 2020 को विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार नीति (एसटीआईपी) 2020 के निर्माण के लिए आम लोगों और विशेषज्ञों से परामर्श प्राप्त करने हेतु एसटीआईपी 2020 टाउन हॉल मीट,…

Read More

सीएसआईआर-सीएमईआरआई ने विकसित किया नया वेंटिलेटर

csir

दुर्गापुर स्थित केंद्रीय यांत्रिक अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (सीएमईआरआई) के शोधकर्ताओं ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्वदेशी तकनीक पर आधारित एक नया वेंटिलेटर विकसित किया है। इस वेंटिलेटर का अनावरण बुधवार को सीएसआईआर-सीएमईआरआई के निदेशक प्रोफेसर (डॉ) हरीश हिरानी और हेल्थ वर्ल्ड हॉस्पिटल प्राइवेट लिमिटेड, दुर्गापुर के प्रबंध निदेशक डॉ अरुणांग्शु गांगुली की मौजूदगी में किया गया है। प्रोफेसर हिरानी ने बताया कि “इस वेंटिलेटर के बेलो (Bellow) डिजाइन, नियंत्रकों और एम्बेडेड इलेक्ट्रॉनिक्स को किफायती लागत सुनिश्चित करने और संबंधित उद्योगों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर विशेष रूप से…

Read More

राष्ट्रीय अनुसंधान प्रयोगशालाओं और विश्वविद्यालयों में कोविड जांच केन्द्रों (हब और स्पोक मॉडल) की संख्या में बढ़ोतरी

kovid janch kendre

देशभर में जांच में तेजी लाने और जांच की पहुंच का दायरा बढ़ाने के उद्देश्य से, देशभर के सरकारी संस्थानों में कोविड -19 के नमूनों की जांच को बढ़ाने के लिए हब और स्पोक मॉडल के आधार पर शहरी / क्षेत्रीय क्लस्टर स्थापित किये गये हैं।  वे संस्थान एवं प्रयोगशालाएं, जिनके पास नमूनों के संग्रह, उनके संभालने / प्रसंस्करण (बीएसएल -2 सुविधा) तथा परीक्षण (आरटी-पीसीआर), दोनों की क्षमता और विशेषज्ञता है, हब के रूप में काम करते हैं और उनके विस्तारित जांच सुविधाओं के रूप में, कई ऐसी प्रयोगशालाएं शामिल हैं जो आरटी –…

Read More