भारत ने आसियान के भागीदारों को महामारी के बाद उसके सुधार के प्रयासों के बारे में आश्‍वस्‍त किया

भारत ने आसियान के भागीदारों को महामारी के बाद उसके सुधार के प्रयासों के बारे में आश्‍वस्‍त किया

भारत ने आज आसियान के भागीदारों को महामारी के बाद उसके सुधार के प्रयासों के बारे में आश्‍वस्‍त किया। वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल और ब्रुनेई दारुस्सलाम के वित्त और आर्थिक मामलों के मंत्री डॉ अमीन ल्यू अब्दुल्ला ने आज 18वें आसियान-भारत आर्थिक मामलों के मंत्री परामर्श की वर्चुअल माध्‍यम से सह-अध्यक्षता की। बैठक में सभी दस आसियान देश- ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम के आर्थिक मामलों के मंत्रियों ने भाग लिया। मंत्रियों ने वर्तमान महामारी की स्थिति का जायजा लिया और महामारी के आर्थिक प्रभाव को कम करने और क्षेत्र में लगातार आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सामूहिक कार्रवाई करने की अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की। मंत्रियों ने आसियान के बीच बढ़ते व्‍यापार और निवेश की प्रशंसा की। भारत आसियान का सातवां सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के सबसे बड़े स्रोतों में से एक है।

अनुप्रिया पटेल ने बैठक को व्यापक टीकाकरण, क्षमता वृद्धि और महामारी की चुनौतियों से निपटने के लिए भारत की आर्थिक पहल के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कृषि, बैंकिंग, बीमा, रसद, कॉर्पोरेट कानून, निवेश व्यवस्था सहित विभिन्न क्षेत्रों में भारत द्वारा किए गए व्यापक सुधारों पर प्रकाश डाला। उन्होंने आसियान देशों को भारत के स्वास्थ्य और फार्मास्यिूटिकल क्षेत्र में निवेश के लिए आमंत्रित किया।

Related posts

Leave a Comment