अद्भुत संयोग के साथ इस तारीख से शुरू होगा श्रावण मास, जानें क‍ितने आ रहे हैं सोमवार

यूं तो भोलेनाथ को प्रसन्‍न करने के लिए किसी भी तरह की व‍िशेष पूजा-अर्चना की जरूरत नहीं होती। क्‍योंकि भोलेनाथ अपने भक्‍त की श्रद्धा से की गई क्षणिक मात्र की भक्ति से ही प्रसन्‍न हो जाते हैं। इसीलिए उन्‍हें भोले भंडारी भी कहा जाता है। लेक‍िन सावन मास में श‍िवजी की पूजा का व‍िशेष धार्मिक महत्‍व बताया गया है। अगर आप भी भोले की भक्ति और कृपा पाना चाहते हैं और सावन के सोमवार का व्रत करते हैं। तो इस बार 6 जुलाई से सावन की शुरुआत हो रही है।…

Read More