केंद्रीय आयुष मंत्री 10 सितंबर को गुवाहाटी में ‘आयुष प्रणालियों में विविध और संतोषप्रद करियर’ पर एक सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे

केंद्रीय आयुष मंत्री 10 सितंबर को गुवाहाटी में ‘आयुष प्रणालियों में विविध और संतोषप्रद करियर’ पर एक सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे

आयुष मंत्रालय अब विद्यार्थि‍यों को अधिक समावेशी तरीके से शामिल करने के साथ-साथ आयुष प्रणालियों में उनका करियर संवारने की राह तलाश रहा है। इस दिशा में शुरुआत करने के लिए मंत्रालय ‘आयुष प्रणालियों में विविध और संतोषप्रद करियर- पूर्वोत्तर राज्यों में शिक्षा, उद्यमिता एवं रोजगार पर फोकस’ नामक थीम पर एक सम्मेलन का आयोजन करने जा रहा है। यह सम्मेलन 10 सितंबर को असम के गुवाहाटी में होगा। केंद्रीय आयुष मंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल और आयुष संस्थानों एवं अनुसंधान संगठनों के संबंधित प्रमुख इस सम्मेलन के दौरान छात्रों के…

Read More

बिहार सरकार ने राज्‍य में बाढ़ राहत उपायों के लिए 3,763 करोड़ रुपये की सहायता राशि मांगी

बिहार सरकार ने राज्‍य में बाढ़ राहत उपायों के लिए 3,763 करोड़ रुपये की सहायता राशि मांगी

बिहार सरकार ने राज्‍य में बाढ़ राहत उपायों के लिए केंद्र से तीन हजार 763 करोड़ रुपये की सहायता राशि की मांग की है। उपमुख्‍यमंत्री रेणु देवी ने कहा है कि यह प्रारंभिक आकलन पर आधारित है। उन्‍होंने कहा कि पटना में केंद्रीय दल के साथ बैठक के दौरान बाढ़ से हुए नुकसान के विभिन्‍न पहलुओं पर चर्चा हुई। बैठक में राज्‍य के मुख्‍य सचिव सहित उच्‍च अधिकारी मौजूद थे। गृह मंत्रालय में संयुक्‍त सचिव आर. के. सिंह के नेतृत्‍व में छह सदस्‍यीय केंद्रीय दल राज्‍य में बाढ़ से हुए…

Read More

विदेशी निवेशकों द्वारा अगस्त महीने भारतीय पूंजी बाजार में लगभग 16 हजार 500 करोड रुपये का निवेश

विदेशी निवेशकों द्वारा अगस्त महीने भारतीय पूंजी बाजार में लगभग 16 हजार 500 करोड रुपये का निवेश

विदेशी निवेशकों ने पिछले महीने भारतीय पूंजी बाजार में लगभग 16 हजार 500 करोड रुपये का निवेश किया। इस महीने के पहले तीन सत्रों में विदेशी निवेशकों ने भारत के पूंजी बाजारों में सात हजार 768 करोड रुपये का निवेश किया। डिपोजिटरी डेटा के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने दो हजार 83 करोड रुपये इक्विटी में और 14 हजार 376 करोड रुपये ऋण बाजार में निवेश किए। ऋण क्षेत्र में इस वर्ष अब तक का यह सबसे बडा निवेश है।

Read More

भारत में चालू वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश पिछले वर्ष की तुलना में लगभग दोगुना हुआ

भारत में चालू वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश पिछले वर्ष की तुलना में लगभग दोगुना हुआ

सरकार द्वारा एफडीआई नीतिगत सुधारों, निवेश सुगमीकरण तथा व्यवसाय करने की सरलता के मोर्चे पर किए गए उपायों का परिणाम देश में बढ़े हुए एफडीआई प्रवाह के रूप में आया है। भारत के विदेशी प्रत्यक्ष निवेश में निम्नलिखित रुझान वैश्विक निवेशकों के बीच एक पसंदीदा निवेश गंतव्य के रूप में उसकी स्थिति की पुष्टि करते हैं: भारत ने वित्त वर्ष 2021-22 के पहले तीन महीनों अर्थात अप्रैल, 2021 से जून 2021 के दौरान कुल 22.53 बिलियन डॉलर का एफडीआई प्रवाह आकर्षित किया है जो वित्त वर्ष 2020-21 के पहले तीन…

Read More