बीपीसीएल ने ग्राहकों के लिए स्वचालित ईंधन भरने की तकनीक “यूफिल” लॉन्च की

बीपीसीएल ने ग्राहकों के लिए स्वचालित ईंधन भरने की तकनीक “यूफिल” लॉन्च की

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत आने वाले सार्वजनिक उपक्रम भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) ने “यूफिल” पेश करने की घोषणा की है जो ग्राहकों के लिए एक डिजिटल अनुभव होगा। यह बीपीसीएल के उस वादे को पूरा करता है कि उसके ग्राहकों का ईँधन भरने के संबंध में समय, प्रौद्योगिकी और पारदर्शिता पर पूरा नियंत्रण सुनिश्चित किया जाएगा। यूफिल के साथ ग्राहकों के लिए मंत्रवाक्य ‘ईंधन भरने में तेजी’ होगा जिससे डिजिटल तकनीक का लाभ उठाया जाएगा। इससे ईंधन भराते समय शून्य और अंतिम रीडिंग देखने और इस तरह के ऑफलाइन मैनुअल हस्तक्षेप की जरूरत से बचा जा सकेगा।

यूफिल सुविधा को देश भर के 65 शहरों में शुरू किया गया है और जल्द ही इसे पूरे भारत में पेश किया जाएगा। कंपनी ने कहा कि यूफिल की कार्यक्षमता तेज, सुरक्षित और स्मार्ट है। अपने ईंधन भरने के तरीके में बदलाव की तलाश करने वाले ग्राहक के लिए, यह एक आसान और सुविधाजनक समाधान है। यूफिल कार्यक्षमता के लिए किसी ऐप को डाउनलोड करने की आवश्यकता नहीं है, भुगतान किसी भी ई-वॉलेट के माध्यम से किया जा सकता है (यानी ग्राहक अपने फोन पर पहले से डाउनलोड किए गए किसी भी भुगतान ऐप जैसे गूगलपे, पेटीएम, फोनपे आदि का उपयोग कर सकते हैं), यह एसएमएस के माध्यम से रियल टाइम क्यूआर और वाउचर कोड प्रदान करता है और सभी बीपीसीएल ईंधन स्टेशनों पर जहां कार्यात्मकता सक्षम है, स्वीकर किया जाता है। पारदर्शिता और सुविधा के तालमेल के साथ, यदि अग्रिम भुगतान की गई राशि का आंशिक रूप से उपयोग किया जाता है, तो शेष राशि तुरंत ग्राहक के बैंक खाते में वापस कर दी जाती है। यदि 48 घंटों के भीतर उपयोग नहीं किया जाता है, तो अग्रिम भुगतान किया गया धन स्वचालित रूप से उस बैंक खाते में वापस कर दिया जाएगा जहां से डेबिट किया गया था।

तकनीक ग्राहक को ईंधन भरने के नियंत्रण के साथ-साथ स्पर्श रहित पूर्व-भुगतान समाधान प्रदान करती है। ऐसा वितरण इकाई के ग्राहक द्वारा अग्रिम रूप से भुगतान किए गए ईंधन के मूल्य के लिए स्वचालित रूप से पूर्व निर्धारित होने से होता है। साथ ही यह तकनीक बिक्री के बिंदु पर किसी भी मैनुअल हस्तक्षेप को समाप्त कर देती है। इस प्रकार, ईंधन भरने से पहले शून्य की रीडिंग या अंतिम रीडिंग की जांच करने की कोई आवश्यकता नहीं है, वितरण इकाई स्वचालित रूप से ईंधन की सटीक मात्रा का वितरण करेगी। साथ ही, यह कंपनी के अधिकारियों से लेकर डीलरों, प्रबंधकों और ड्राइववे सेल्समैन (डीएसएम) सहित सभी हितधारकों की श्रृंखला में प्रभावी है। यूफिल कंपनी की डिजिटल परिवर्तन यात्रा में एक और अहम पड़ाव है जिसका उद्देश्य ईंधन आउटलेट पर ग्राहक के टर्न-अराउंड टाइम (टीएटी) में सुधार करना और लेनदेन संबंधी पारदर्शिता को बढ़ाना है, जिससे खुदरा खरीदारी जैसा अनुभव बेहतर किया जा सके।

Related posts

Leave a Comment