प्रहलाद सिंह पटेल ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये ब्रिक्स संस्कृति मंत्रियों की छठी बैठक की अध्यक्षता की

प्रहलाद सिंह पटेल ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये ब्रिक्स संस्कृति मंत्रियों की छठी बैठक की अध्यक्षता की

संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद सिंह पटेल ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये ब्रिक्स संस्कृति मंत्रियों की छठी बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में ब्राजील संघीय गणराज्य, रूसी संघ, भारत गणराज्य, चीन जनवादी गणराज्य और दक्षिण अफ्रीका गणराज्य के संस्कृति मंत्रालयों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। बैठक के दौरान सांस्कृतिक तालमेल के संबंध एवं सामंजस्य विषय के तहत ब्रिक्स देशों के बीच सांस्कृतिक गतिविधियों की प्रगति एवं विस्तार के बारे में चर्चा की गई।

संस्कृति राज्य मंत्री ने बैठक के प्रतिभागियों को संबोधित किया और ब्रिक्स के तहत सांस्कृतिक सहयोग को मजबूत करने के लिए भारत के दृष्टिकोण को प्रस्तुत किया। पिछले डेढ़ साल से दुनिया जिस कोविड-19 के प्रकोप का सामना कर रही है उसका उल्‍लेख करते हुए संस्कृति राज्य मंत्री ने सांस्कृतिक आयाम सहित जीवन के सभी क्षेत्रों पर इस वैश्विक महामारी के प्रतिकूल प्रभावों के बारे में चिंता जताई। उन्होंने मौजूदा परिस्थितियों में डिजिटल तकनीकों के उपयोग और इसकी स्वीकार्यता के बारे में बताया।

मंत्री ने ब्रिक्स देशों के बीच मूर्त एवं अमूर्त विरासत के ज्ञान पर सांस्कृतिक अनुभवों के ऑनलाइन आदान-प्रदान के क्षेत्र में सहयोग पर जोर दिया। उन्होंने जीवंत अंतरराष्ट्रीय मानवीय संवाद स्थापित करने के लिए संस्कृति की भूमिका के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने संग्रहालय, कला, थिएटर आदि के क्षेत्र में ऑनलाइन सांस्कृतिक गतिविधियों के संचालन के लिए ब्रिक्स देशों के सांस्कृतिक संगठनों के प्रयासों की सराहना की। मंत्री ने हमारी पांडुलिपियों में निहित जानकारी के अमूल्य खजाने का उपयोग करने की मंशा से प्राचीन पांडुलिपियों के संरक्षण, परिरक्षण एवं डिजिटलीकरण के क्षेत्र में ब्रिक्स गठबंधन की स्‍थापना करने का प्रस्ताव रखा।

प्रहलाद सिंह पटेल ने मौजूदा यूनेस्को कॉन्‍वेंशन के अनुपालन के साथ-साथ ब्रिक्स ढांचे के तहत पारस्परिक सहायता एवं समर्थन के जरिये हमारी मूर्त एवं अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की रक्षा करने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। उन्होंने भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर जश्न की शुरुआत के ऐतिहासिक अवसर के बारे में भी बताया। मार्च 2021 में ‘आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम’ के तहत इसकी शुरुआत हुई थी।

प्रहलाद सिंह पटेल ने ब्रिक्स अध्यक्षता के लिए भारत के विषय ‘ब्रिक्स@15: ब्रिक्स सांस्कृतिक सहयोग को बढ़ावा देने के संदर्भ में निरंतरता, समेकन एवं जागृति के लिए इंट्रा-ब्रिक्स सहयोग’ के औचित्‍य का भी उल्लेख किया।

बैठक की घोषणा में संग्रहालय, कला दीर्घा, थिएटर, पुस्तकालयों के क्षेत्र में ब्रिक्स देशों के बीच सांस्कृतिक सहयोग को मजबूत एवं बेहतर करने और वैश्विक महामारी जैसी परिस्थितियों के प्रतिकूल प्रभाव से निपटने के लिए ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित करने में आधुनिक तकनीकों के उपयोग को बढ़ावा देने पर सहमति व्यक्त की गई थी।

बैठक के अंत में ब्रिक्स संस्कृति मंत्रियों की छठी बैठक की घोषणा पर सदस्य देशों के सभी प्रतिनिधियों ने हस्ताक्षर किए।

Related posts

Leave a Comment