पीयूष गोयल ने पारदर्शिता संबंधी मानक तैयार करने के लिए सीए समुदाय से मिशन मोड में काम करने का आह्वान किया

पीयूष गोयल ने पारदर्शिता संबंधी मानक तैयार करने के लिए सीए समुदाय से मिशन मोड में काम करने का आह्वान किया

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने आज कहा कि भारत 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। अपनी यूएई यात्रा के दौरान आईसीएआई दुबई चैप्टर को संबोधित करते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में भारत आज आत्मनिर्भर बनने की राह पर है और कई महत्‍वपूर्ण सुधार कर रहा है।

पीयूष गोयल ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी के तेतृत्‍व में हम वैश्विक महामारी के बावजूद आर्थिक संकेतकों में वृद्धि देख रहे हैं। वित्त वर्ष 2020-21 की पहली छमाही यानी यानी अप्रैल से सितंबर 2021 की अवधि में भारत से वस्‍तुओं का कुल निर्यात 197.11 अरब डॉलर तक पहुंच गया जो अप्रैल से सितंबर 2019 में हुए निर्यात के मुकाबले 23.8 प्रतिशत अधिक है। विनिर्माण पीएमआई औसत 51.5 (पहली तिमाही) से सुधरकर 53.8 (दूसरी तिमाही) हो गया जबकि सितंबर में जीएसटी संग्रह 5 महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गया है।’

वाणिज्य मंत्री ने कहा कि 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था एक साहसिक लक्ष्‍य है। उन्‍होंने कहा कि इसे संभव बनाने और इसे एक जन आंदोलन बनाने के लिए प्रत्येक भारतीय को अपना योगदान देना होगा। पीयूष गोयल ने कहा कि स्टार्टअप इंडिया, पीएलआई योजना, सिंगल विंडो सिस्टम, इंडस्ट्रियल कॉरिडोर, नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन, कॉरपोरेट टैक्स में कमी, रेट्रोस्पेक्टिव इनकम टैक्स हटाना, लिबरल एफडीआई पॉलिसी आदि सरकार द्वारा शुरू किए गए प्रमुख सुधार एवं योजनाएं हैं।

पीयूष गोयल ने कहा, ‘वित्तीय क्षेत्र में पारदर्शिता सुनिश्चित करते हुए अर्थव्‍यवस्‍था को जोखिम से मुक्त करना, डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया जैसी राष्ट्रीय पहल को मजबूती देना और विशेष तौर पर किसानों एमएसएमई सहित आम आदमी की वित्तीय साक्षरता को बढ़ावा देना भारतीय अर्थव्यवस्था में निवेशकों का विश्वास बढ़ाने के लिए उठाए गए प्रमुख कदम हैं।’

पीयूष गोयल ने कहा कि भारत-यूएई भागीदारी से हमारे पारस्परिक रूप से लाभकारी संबंधों को बल मिलेगा। उन्‍होंने कहा, ‘लगभग 34 लाख लोगों का भारतीय समुदाय संयुक्त अरब अमीरात में सबसे बड़ा जातीय समुदाय है जो देश की आबादी का लगभग 30 प्रतिशत है और वे दोनों देशों के बीच एक सेतु का काम करते हैं। हमारा आजादी का अमृत महोत्सव यूएई के ईयर ऑफ 50 उत्सव के साथ मेल खाता है जो 1971 में संघ की घोषणा के 50 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित किया जा रहा है।’ उन्‍होंने कहा, ‘हमने पिछले सप्‍ताह सीईपीए वार्ता शुरू करते हुए अपनी दोस्ती की ओर अगला कदम उठाया है।’

आईसीएआई दुबई को आईसीएआई के 45 विदेशी चैप्‍टरों में सबसे बड़े एवं सबसे सक्रिय चैप्‍टर के तौर पर सराहना करते हुए पीयूष गोयल ने कहा, ‘दुबई भारत के विस्तारित पड़ोस की तरह है और आईसीएआई दुबई सीए के लिए भारत का विस्तारित घर है।’

पीयूष गोयल ने यूएई में वैट को सफलतापूर्वक लागू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए आईसीएआई दुबई की सराहना की। उन्‍होंने कोविड-19 के दौरान भारत को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, भोजन एवं अन्‍य आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करके नि:स्वार्थ मदद करने के लिए दुबई चैप्टर को धन्यवाद दिया।

पीयूष गोयल ने कहा कि सीए सुधार को उत्प्रेरित करने और मूल्य सृजन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। उन्‍होंने कहा, ‘भारत में सीए को उद्योग की अपेक्षाओं से इतर इस पेशे से देश और समाज की अपेक्षाओं की ओर देखने की आवश्यकता है। वैश्विक स्तर की भारतीय ऑडिट फर्म बनाने संबंधी प्रधानमंत्री मोदी के मिशन को पूरा करने के लिए सीए समुदाय को मिशन मोड में काम करने की आवश्‍यकता है। मैं दुबई में मौजूद सीए से आग्रह करता हूं कि वे आपके ग्राहकों को भारत में निवेश करने और हमारे बड़े बाजार से लाभ उठाने के लिए आमंत्रित करें।

गौरतलब है कि केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग, कपड़ा, उपभोक्ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल दुबई एक्सपो में इंडिया पवेलियन का उद्घाटन करने के लिए दुबई में हैं। उनकी इस आधिकारिक यात्रा को भारत और यूएई के बीच सामरिक साझेदारी को बढ़ावा देने और व्यापार एवं निवेश को अभूतपूर्व स्तर तक ले जाने की दिशा में एक बड़े कदम के रूप में देखा जा रहा है।

पिछले 2 दिनों के दौरान उन्‍होंने जिन महत्‍वपूर्ण लोगों से बातचीत की उनमें यूएई के विदेश व्यापार राज्य मंत्री डॉ. थानी अहमद अल जायौदी, अबू धाबी इन्‍वेस्‍टमेंट अथॉ‍रिटी के निदेश्‍क एवं कार्यकारी परिषद के सदस्‍य अहमद बिन जायद अल नहयेन, अमीरात में शीर्ष व्यापारिक घरानों जैसे डीपी वर्ल्ड के ग्रुप चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी और पोर्ट्स, कस्टम्स एंड फ्री जोन कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष सुल्तान अहमद बिन सुलेयम, एमार प्रॉपर्टीज के संस्थापक एवं प्रबंध निदेशक मोहम्मद अली रशीद अलब्बार, नून डॉट कॉम के संस्‍थापक एवं निदेशक, ईगल हिल्‍स के चेयरमैन, अमेरिकाना ग्रुप के चेयरमैन, लुलु ग्रुप के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक युसुफअली एमए, एचएसबीसी बैंक के क्षेत्रीय सीईओ एवं समूह के बोर्ड सदस्‍य स्टीफन मॉस, एचएसबीसी इंडिया एवं एचएसबीसी यूएई के सीईओ, सर्राफ ग्रुप के वाइस चेयरमैन मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) शराफुद्दीन सर्राफ और यूआईबीसी के चेयरमैन शामिल हैं।

Related posts

Leave a Comment