वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नागरिक उड्डयन और दूरसंचार के लिए पूँजीगत व्यय (सीएपीईएक्स) पर समीक्षा बैठक की

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नागरिक उड्डयन और दूरसंचार के लिए पूँजीगत व्यय (सीएपीईएक्स) पर समीक्षा बैठक की

देश में पूंजीगत व्यय (सीएपीईएक्स) और बुनियादी ढांचे की प्रगति को बढ़ावा देने के लिए, केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नागर विमानन मंत्रालय और दूरसंचार विभाग के साथ समीक्षा बैठकें की। समीक्षा बैठकों में सचिव (आर्थिक मामले), सचिव (नागरिक उड्डयन), सचिव (दूरसंचार), संयुक्त सचिव (आर्थिक मामले), नागरिक उड्डयन और दूरसंचार के संयुक्त सचिव और वित्त सलाहकारों ने भाग लिया।

बैठक के दौरान वित्त मंत्री ने बल देते हुए कहा कि बुनियादी ढांचे के विकास के लिए एक त्वरित चरण होना चाहिए और मंत्रालयों को परियोजना का कार्यान्वयन तेजी से सुनिश्चित करने के लिए इस दिशा में निरंतर प्रयास करना चाहिए।

बैठक के दौरान, पहली तिमाही और दूसरी तिमाही के पूँजीगत व्यय की स्थिति, पूँजीगत व्यय की फ्रंट-लोडिंग, चालू वित्त वर्ष की आगामी तिमाहियों में मंत्रालयों और उनके केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों (सीपीएसई) द्वारा किए जाने वाले पूंजीगत व्यय का अनुमानित लक्ष्य, राष्ट्रीय अवसंरचना पाइपलाइन (एनआईपी) परियोजनाओं के कार्यान्वयन के लिए व्यय, परिसंपत्ति मुद्रीकरण द्वारा जुटाए जाने वाले धन का अनुमान, पीपीपी के माध्यम से शुरू की गई परियोजनाओं और राष्ट्रीय मास्टर प्लान (गति शक्ति) के अनुरूप कार्य संचालन जैसे विषयों पर चर्चा की गई। निर्मला सीतारमण ने दोहराया कि अर्थव्यवस्था में उच्च विकास को हासिल करने के लिए आने वाले महीनों में उच्च पूंजीगत व्यय सुनिश्चित करने हेतु मंत्रालयों को सभी प्रयासों में शामिल होना चाहिए।

वित्त मंत्री ने अधिकारियों को कोषों को जारी करने की निगरानी के अलावा परियोजनाओं के कार्यान्वयन की निगरानी करने का भी आह्वान किया। निर्मला सीतारमण ने कहा कि बुनियादी ढांचा परियोजनाएं सरकार की प्राथमिकता हैं और सीएपीईएक्स के लिए आवश्यक धन उपलब्ध कराया जाएगा।

निर्मला सीतारमण ने रेखांकित किया कि बुनियादी ढांचे के व्यय में न केवल बुनियादी ढांचे पर केंद्र सरकार का बजटीय खर्च शामिल है, बल्कि राज्य सरकारों और निजी क्षेत्र द्वारा किए जाने वाला खर्च भी शामिल है। बुनियादी ढांचे पर निजी सीएपीईएक्स, और सार्वजनिक-निजी भागीदारी के तहत भी देश में संपूर्ण बुनियादी ढांचा की प्रगति के लिए गति को सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

वित्त मंत्री ने आर्थिक मामले विभाग (डीईए) के अधिकारियों को नागरिक उड्डयन मंत्रालय के साथ करीबी समन्वय के साथ कार्य करने का निर्देश दिया ताकि अधिक परियोजनाओं के शुभारंभ और वित्त वर्ष 2023 में सीएपीईएक्स व्यय को वर्तमान लक्ष्य से काफी अधिक किया जाना सुनिश्चित किया जा सके। निर्मला सीतारमण ने दूरसंचार विभाग को अपने सीपीएसई कैपेक्स, फास्ट-ट्रैक परिसम्पत्ति मुद्रीकरण को आगे बढ़ाने और डीआईपीएएम के साथ निकट समन्वय में काम करने के लिए कहा, ताकि मुद्रीकरण की प्रक्रिया को जल्द से जल्द अंतिम रूप देते हुएपूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र में डिजिटल विस्तार योजनाओं के त्वरित कार्यान्वयन को प्राथमिकता के साथसुनिश्चित किया जा सके।

निर्मला सीतारमण ने संबंधित सचिवों को चालू वित्त वर्ष में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं पर व्यय बढ़ाने के साथ-साथ अगले वित्त वर्ष की योजना बनाने का निर्देश दिया।

आज की बैठक विभिन्न बुनियादी ढांचागत मंत्रालयों/विभागों के साथ सीएपीईएक्स पर वित्त मंत्री द्वारा समीक्षा बैठकों की श्रृंखला की पहली बैठक है और इसका आयोजन जून, 2021 में आयोजित पिछले दौर की बैठक की निरंतरता को बनाए रखने के लिए किया गया है।

Related posts

Leave a Comment