पूर्वोत्तर औद्योगिक विकास स्कीम (NEIDS), 2017 के तहत 105 औद्योगिक इकाइयों को 9वीं अधिकार संपन्न समिति की बैठक द्वारा पंजीकरण प्रदान किए गए

पूर्वोत्तर औद्योगिक विकास स्कीम (NEIDS), 2017 के तहत 105 औद्योगिक इकाइयों को 9वीं अधिकार संपन्न समिति की बैठक द्वारा पंजीकरण प्रदान किए गए

डीपीआईआईटी के सचिव की अध्यक्षता में पूर्वोत्तर औद्योगिक विकास स्कीम (एनईआईडीएस), 2017 की अधिकार संपन्न समिति ने अपनी 9वीं बैठक में 105 औद्योगिक इकाइयों को पंजीकरण प्रदान किया। अभी तक, 2631.19 करोड़ रुपये के कुल प्रस्तावित निवेश के साथ कुल 391 नई औद्योगिक इकाइयों को एनईआईडीएस, 2017 के तहत पंजीकरण प्रदान किए जा चुके हैं। 31 अक्टूबर, 2021 तक संबंधित राज्य सरकारों द्वारा पंजीकरण के लिए अनुशंसित सभी आवेदनों पर अधिकार संपन्न समिति द्वारा विचार किया गया है।

इन 391 औद्योगिक इकाइयों द्वारा परिकल्पित कुल प्रोत्साहन 1740.06 करोड़ रुपये का है जिसमें अनुमानित रोजगार सृजन 15,987 का है।

पूर्वोत्तर के राज्यों में औद्योगिकीकरण को प्रोत्साहित करने तथा रोजगार और आय सृजन को बढ़ावा देने के लिए, सरकार ने 12.04.2018 को एनईआईडीएस, 2017 अधिसूचित की। यह स्कीम राज्य सरकारों, औद्योगिक संगठनों तथा अन्य हितधारकों से प्राप्त सुझावों के आधार पर तैयार की गई। इस स्कीम में विनिर्माण तथा सेवा क्षेत्र दोनों ही शामिल हैं।

इसे एक ऑनलाइन ऐप्लीकेशन पोर्टल विकसित करने सहित की गई प्रमुख पहलों के जरिये अर्जित किया जा सकता है जो आवेदकों को प्रत्येक चरण के बारे में सूचित किए जाने के साथ मामलों की ऑनलाइन प्रोसेसिंग, के अतिरिक्त ऑनलाइन तरीके से आवेदन करने तथा क्लेम फॉर्म जमा करने में सक्षम बनाता है। भारत सरकार ने औद्योगिक इकाइयों को प्रोत्साहन जारी करने में तेजी लाने की दृष्टि से राज्य सरकारों को दावों की प्रोसेसिंग तथा मंजूरी देने के अधिकार भी प्रदान किए हैं।

सभी हितधारकों को समय-समय पर संगोष्ठियों और कार्यशालाओं के माध्यम से जोड़ा जा रहा है और इसी प्रकार का एक विशाल आयोजन डीपीआईआईटी द्वारा पूर्वोत्तर क्षेत्र में निवेश और औद्योगिक विकास में तेजी लाना की थीम पर 30 नवंबर, 2019 को किया गया था, जिसके टीम सदस्यों में पूर्वोत्तर क्षेत्र में स्थित विनिर्माण और सेवा क्षेत्र इकाइयों तथा अन्य हितधारकों के अतिरिक्त इनवेस्ट इंडिया और व्यवसाय करने की सुगमता (इओडीबी) प्रभाग, सभी आठ राज्य सरकारों के औद्योगिक विभागों में विभाग प्रमुखों, एपीडा जैसे राष्ट्रीय निकायों तथा सीआईआई, फाइनर, लघु उद्योग भारती, एसोचैम तथा फिक्की आदि जैसे उद्योग संगठनों से पूर्वोत्तर क्षेत्र के प्रतिनिधि शामिल थे। एनईआईडीएस पोर्टल पर प्ररोसेसिंग करने से संबंधित व्यावहारिक प्रशिक्षण भी उपलब्ध कराया गया।

Related posts

Leave a Comment