खेलो इंडिया योजना के अस्तित्‍व में आने के बाद इसके अंतर्गत 2400 करोड़ रुपये से अधिक आवंटित किए गए

खेलो इंडिया योजना के अस्तित्‍व में आने के बाद इसके अंतर्गत 2400 करोड़ रुपये से अधिक आवंटित किए गए

पूर्वोत्‍तर क्षेत्र और भागलपुर सहित देश में खेल भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए युवा कार्य और खेल मंत्रालय खेलों को व्यापक आधार प्रदान करने और खेलों में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अनेक योजनाओं को कार्यान्वित करता है। अब तक 28 राज्‍यों/ संघ शासित प्रदेशों के 359 जिलों में 453 खेलो इंडिया केन्‍द्र अधिसूचित किए गए हैं।

योजना के अंतर्गत पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में 423.01 करोड़ रुपये की विभिन्न 62 खेल अवसंरचना परियोजनाओं को मंजूर किया गया है। इसके अलावाखेल विज्ञान, खेल प्रौद्योगिकी, खेल प्रबंधन और खेल कोचिंग के क्षेत्र में खेल शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए इंफाल, मणिपुर में राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है । इसके अलावा, गुवाहाटी, असम में 2009-10 से लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान (एलएनआईपीई) का एक पूर्वोत्तर क्षेत्रीय केंद्र भी कार्यशील है।

मंत्रालय की खेलो इंडिया योजना के अंतर्गत, पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में 08 खेलो इंडिया राज्‍य उत्‍कृष्‍टता केन्‍द्र और 152 खेलो इंडिया केन्‍द्र अधिसूचित किए गए हैं। इसके अलावा, 20 अकादमियों को भी मान्यता प्रदान की गई है और 02 सेना बाल खेल कंपनियों को पूर्वोत्तर क्षेत्र में सहायता प्रदान की गई है। पूर्वोत्तर क्षेत्र के कुल 217 खेलो इंडिया एथलीटों की पहचान की गई है। खेलो इंडिया स्कीम के प्रारंभ से लेकर अब तक आबंटित निधियों और किए गए व्यय का ब्यौरा नीचे दिया गया है:

Year
आवंटित धनराशि
वास्‍तविक खर्च (31.10.2021 को)

2016-17
118.10
118.10

2017-18
350.00
346.99

2018-19
375.09
342.24

2019-20
578.00
575.52

2020-21
338.93
338.93

2021-22
657.71
313.41

यह जानकारी युवा मामले और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने आज लोक सभा में एक प्रश्‍न के लिखित उत्‍तर में दी।

Related posts

Leave a Comment