केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति इरानी ने हिंसा से प्रभावित महिलाओं के लिए 24/7 हेल्पलाइन सेवा का शुभारम्भ किया

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति इरानी ने हिंसा से प्रभावित महिलाओं के लिए 24/7 हेल्पलाइन सेवा का शुभारम्भ किया

देश भर में महिलाओं की सुरक्षा और संरक्षा में अधिक सुधार लाने के उद्देश्य से और महिलाओं की समग्र बेहतरी की दिशा में केंद्र सरकार के प्रयासों के अनुरूप, केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन इरानी ने आज राष्ट्रीय महिला आयोग के हेल्पलाइन नंबर – 7827170170 का शुभारम्भ किया। हेल्पलाइन का उद्देश्य हिंसा से प्रभावित महिलाओं को पुलिस, अस्पतालों, जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण और मनोवैज्ञानिक सेवाओं आदि के उपयुक्त अधिकारियों से जोड़कर रेफरल के माध्यम से 24/7 ऑनलाइन सहायता प्रदान करना है।

वर्चुअल माध्यम से हेल्पलाइन का उद्घाटन करते हुए केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति इरानी ने इस पहल के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग-एनसीडब्ल्यू को बधाई दी और नई हेल्पलाइन की सराहना की। उन्होंने कहा कि यह डिजिटल हेल्पलाइन महिलाओं को संदेश देती है कि जब भी उन्हें जरूरत होगी, उनकी सरकार और उनका आयोग उनके साथ खड़ा रहेगा। उन्होंने विशेष रूप से महामारी के दौरान महिलाओं की मदद करने के “शानदार” प्रयासों के लिए पूरी एनसीडब्ल्यू टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि एनसीडब्ल्यू और डब्ल्यूसीडी के बीच साझेदारी संकट में महिलाओं की मदद के लिए एक सहज हस्तक्षेप सुनिश्चित करने में एक लंबा सफर तय करती है।

इस अवसर, एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि हेल्पलाइन मौजूदा शिकायत तंत्र को मजबूत करती है और हेल्पलाइन सहायता और परामर्श की आवश्यकता वाली महिलाओं को समय पर सहायता प्राप्त करने के लिए सक्षम करेगी। उन्होंने कहा, “हम हमेशा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से प्रेरित होते हैं जो महिलाओं की बेहतरी के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं। महिला सशक्तिकरण से लेकर महिला नेतृत्व वाले सशक्तिकरण तक, हमने उनके सक्षम नेतृत्व में कई बदलाव देखे हैं जो हमें और बेहतर करने के लिए प्रेरित करते हैं।

हेल्पलाइन का उद्देश्य हिंसा से प्रभावित महिलाओं को पुलिस, अस्पतालों, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मनोवैज्ञानिक सेवाओं जैसे उचित अधिकारियों से जोड़कर 24 घंटे के लिए एक समान नम्बर द्वारा शिकायत और परामर्श सेवाएं प्रदान करना और देश भर में महिलाओं से संबंधित सरकारी कार्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करना है। प्रशिक्षित विशेषज्ञों की एक टीम के साथ हेल्पलाइन काम करेगी। नई दिल्ली में राष्ट्रीय महिला आयोग के परिसर से संचालित होने वाली इस हेल्पलाइन पर 18 वर्ष या उससे अधिक आयु की कोई भी लड़की या महिला कॉल करके मदद ले सकती है।

एनसीडब्ल्यू अपने वैधानिक आदेश के तहत देश भर से हिंसा/महिला अधिकारों से वंचित होने की विभिन्न श्रेणियों के तहत शिकायतों को देख रहा है। ये शिकायतें आयोग की वेबसाइट यानी www.ncw.nic.in. पर लिखित या ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त की जाती हैं। आयोग शिकायतों का उपयुक्त निवारण सुनिश्चित करने के लिए महिलाओं को पर्याप्त और शीघ्र राहत प्रदान करने में सुविधा के लिए शिकायतों पर कार्रवाई करता है। शिकायत मंच को मजबूत और विस्तारित करने के लिए आयोग ने इस डिजिटल हेल्पलाइन को शुरू करने की पहल की है। इस हेल्पलाइन सेवा को डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सहयोग से विकसित किया गया है।

राष्ट्रीय महिला आयोग महिलाओं की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देता है। पीड़ित महिलाओं के लिए अपनी पहल को ध्यान में रखते हुए, आयोग ने एक छत के नीचे हिंसा से प्रभावित महिलाओं के लिए सेवाओं की एकीकृत श्रेणी की सुविधा, जैसे पुलिस की मदद, मनो-सामाजिक परामर्श और अन्य सेवाओं के साथ वन स्टॉप सेंटर तक पहुंच के लिए इस नई हेल्पलाइन की शुरुआत की है। महिलाओं के खिलाफ हिंसा से संबंधित मुद्दों पर मदद की सुविधा के लिए हेल्पलाइन चौबीसों घंटे काम करेगी।

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन इरानी ने वर्चुअल माध्यम से 24/7 हेल्पलाइन नंबर का उद्घाटन किया। इस अवसर पर सचिव, डब्ल्यूसीडी, इंदीवर पांडे और एनसीडब्ल्यू अध्यक्ष रेखा शर्मा के डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन के वरिष्ठ निदेशक (अनुसंधान), विनय ठाकुर और आयोग के सदस्य उपस्थिति थे।

Related posts

Leave a Comment