एनएचपीसी विभिन्न राजभाषा कीर्ति पुरस्कारों से सम्मानित

एनएचपीसी विभिन्न राजभाषा कीर्ति पुरस्कारों से सम्मानित

एनएचपीसी की राजभाषा पत्रिका ‘राजभाषा ज्योति’ को गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा वर्ष 2019-20 के लिए भारत सरकार के सर्वोच्च राजभाषा कीर्ति पुरस्कार (गृह पत्रिका) के अंतर्गत ‘क’ क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया है। इसके अतिरिक्त, एनएचपीसी को उत्कृष्ट राजभाषा कार्यान्वयन के लिए राजभाषा कीर्ति पुरस्कार योजना के अंतर्गत द्वितीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।

यह पुरस्कार केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कर-कमलों से ए.के. सिंह, सीएमडी, एनएचपीसी ने 14 सितंबर, 2021 को विज्ञान भवन में आयोजित हिंदी दिवस समारोह में ग्रहण किया। इस अवसर पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय, अजय कुमार मिश्रा और निशिथ प्रामाणिक भी उपस्थित थे। साथ ही, वर्ष 2019-20 के लिए उत्कृष्ट लेखों के लिए लेखकों को दिए जाने वाले सर्वोच्च पुरस्कार ‘राजभाषा गौरव पुरस्कार’ के अंतर्गत डॉ. राजबीर सिंह, महाप्रबंधक (राजभाषा) को उनके लेख ‘वेदों में पर्यावरण चेतना’ के लिए पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

राजभाषा कीर्ति पुरस्कार राजभाषा कार्यान्वयन के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला सर्वोच्च पुरस्कार है । सार्वजनिक उपक्रमों के बीच उत्कृष्ट राजभाषा कार्यान्वयन के लिए एनएचपीसी को यह प्रतिष्ठित पुरस्कार नौवीं बार प्रदान किया गया है । उल्लेखनीय है कि एनएचपीसी को इससे पहले सार्वजनिक उपक्रमों के बीच सर्वोत्कृष्ट राजभाषा कार्यान्वयन के लिए वर्ष 2008-09, 2009-10, 2011-12, 2014-15 और 2016-17 के लिए प्रथम तथा वर्ष 2010-11, 2012-13 और 2015-16 के लिए द्वितीय पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं। इसके अतिरिक्त, राजभाषा कीर्ति पुरस्कार (गृह पत्रिका) के अंतर्गत ‘राजभाषा ज्योति’ को भी यह पुरस्कार दूसरी बार प्रदान किया गया है । इससे पहले वर्ष 2016-17 के लिए ‘राजभाषा ज्योति’ को द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया था ।

एनएचपीसी ने जलविद्युत उत्पादन और विकास के साथ- साथ राजभाषा हिंदी के क्षेत्र में भी गुणात्मक प्रगति की है । राजभाषा कार्यान्वयन के क्षेत्र में एनएचपीसी की उल्लेखनीय उपलब्धियों के लिए इसे अन्य अनेक राष्ट्रीय स्तर के राजभाषा पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया है।

Related posts

Leave a Comment