आईएनपीए और फ्लिपकार्ट ने नौसेना के पूर्व-सैनिकों के पुनर्रोजगार के लिए अवसर खोजने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

आईएनपीए और फ्लिपकार्ट ने नौसेना के पूर्व-सैनिकों के पुनर्रोजगार के लिए अवसर खोजने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

भारतीय नौसेना प्लेसमेंट एजेंसी (आईएनपीए) और फ्लिपकार्ट ने आज एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए, जिसके माध्यम से दोनों संस्थाएं फ्लिपकार्ट समूह में नौसेना के पूर्व-सैनिकों की भर्ती के अवसरों का पता लगाएंगे। भारतीय नौसेना के कार्मिक सेवा नियंत्रक वाइस एडमिरल सूरज बेरी और फ्लिपकार्ट के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रजनीश कुमार ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर भारतीय नौसेना और फ्लिपकार्ट के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

समझौते के माध्यम से, आईएनपीए फ्लिपकार्ट के भर्ती मानकों के अनुसार प्रासंगिक भूमिकाओं के लिए पूर्व-सैनिक उम्मीदवारों के एक पूल की पहचान करेगा। कंपनी, बदले में, इन व्यक्तियों को इन-हाउस समावेशन और प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से कॉरपोरेट क्षेत्र में स्थानांतरित करने में सक्षम बनाएगी।

फ्लिपकार्ट इस कार्यक्रम को अपने ‘डायवर्सिटी एंड इंक्लूजन चार्टर’ के तहत ‘फ्लिपमार्च’ के तत्वावधान में चला रहा है, जिसका उद्देश्य भूतपूर्व सैनिकों को उनकी सेवा अवधि के दौरान हासिल की गई योग्यता, अनुभव और विशेषताओं के अनुरूप अवसर प्रदान करना है।

फ्लिपकार्ट के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रजनीश कुमार ने कहा, “एक देश के रूप में हम अपने देश के सशस्त्र बलों की वीरता और योगदान के ऋणी हैं। हमारे फ्लिपमार्च कार्यक्रम के माध्यम से, फ्लिपकार्ट का उद्देश्य भूतपूर्व सैनिकों को कॉरपोरेट जगत में अवसर खोजने के लिए एक पूल बनाना है, हमारे प्रतिभा पूल को समृद्ध करना है, साथ ही उनके कौशल का लाभ उठाने वाले निरंतर रोजगार की तलाश करना है। हमें आईएनपीए के प्रयासों से जुड़े होने और पारस्परिक रूप से अपने कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने पर गर्व है।”

कार्मिक सेवा नियंत्रक वाइस एडमिरल सूरज बेरी ने कहा, “आईएनपीए भूतपूर्व सैनिकों को सुविधा प्रदान करने, अपने राष्ट्र के लिए उनकी सेवा के बाद रोजगार के अवसर खोजने के लिए प्रतिबद्ध है और इस उद्देश्य को सक्षम करने वाले कार्यक्रमों की पहचान करने और विकसित करने के लिए कारपोरेट क्षेत्र के साथ काम करने का हमारा प्रयास है। हम इस पहल पर फ्लिपकार्ट के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं।”

Related posts

Leave a Comment