आज के अखबारों की सुर्खियां 12 जुलाई 2021

आज के अखबारों की सुर्खियां 12 जुलाई 2021

लखनऊ में अलकायदा के दो आंतकियों की गिरफ्तारी कुछ अखबारों की अहम खबर है। राष्ट्रीय सहारा लिखता है-यूपी को दहलाने की साजिश नाकाम, एटीएस ने बड़े आतंकी मॉड्यूल का किया पर्दाफाश।

अमर उजाला का कहना है-मानव बमों से यूपी को दहलाने की थी साजिश। इसका उद्देश्य आतंकी गिरोह में युवकों की भर्ती और उन्हें कट्टरपंथी बनाना है। उत्तर प्रदेश की नई जनसंख्या नीति पर जनसत्ता की सुर्खी है- योगी ने कहा, जनसंख्या नियंत्रण बिना उन्नति नहीं। इस नीति का लक्ष्य जनसंख्या में स्थायित्व प्राप्त करना तथा मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करना है।

नवभारत टाइम्स की अहम खबर है- नये सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री की चेतावनी के तीन दिन बाद ट्विटर ने नियम माने, शिकायत अधिकारी की नियुक्ति की। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्वनी वैष्णव ने कल स्वदेशी सोशल मीडिया ऐप कू पर अपनी पहली पोस्ट डाली, बोले-कू ऐप पर यूजर्स को होगा फायदा। नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार के हवाले से हिन्दुस्तान लिखता है-दोहरे अंक में वृद्धि दर्ज करेगी अर्थव्यवस्था। किसी भी संभावित तीसरी कोविड लहर से निपटने के लिए देश बेहतर तरीके से है तैयार। अब हम महामारी को छोड़ रहे हैं पीछे।

दैनिक जागरण का कहना है-पेट्रोल-डीजल से सुधर रही राजस्व की सेहत। बजट अनुमान से एक लाख तीस हजार करोड़ रूपये अधिक के संग्रह की उम्मीद। देश भर में बारिश और बाढ़ आपदा के बीच बिजली गिरने से उत्तर प्रदेश में चालीस लोगों की मौत की खबर हिन्दुस्तान ने दी है। उधर, मौसम का मिजाज शीर्षक से जनसत्ता की टिप्पणी है- हवा प्रणालियों के पूर्वानुमान में दिक्कत से गलत हो रहीं भविष्यवाणियां। विशेषज्ञों ने कहा-मॉडल्स द्वारा भेजे गिए सिंगनल गलत तथा पूर्वी और पश्चिमी हवाओं के बीच संपर्क में नहीं दिखी एकरूपता।

दैनिक भास्कर की सुर्खी है- देश में तीन करोड़ लोग कोरोना को हराकर हुए स्वस्थ। दुनिया में सबसे अच्छी रिकवरी दर भारत में, 97 दशमलव एक-आठ प्रतिशत, जबकि सर्वाधिक केस वाले अमरीका में 84 दशमलव एक-आठ प्रतिशत।

Related posts

Leave a Comment