हिंदी दिवस -2020 पर फिल्म प्रभाग की राजभाषा पर बनी लघु फिल्मों का प्रदर्शन

Hindi divas

फिल्म प्रभाग द्वारा हिंदी दिवस -2020 के अवसर पर, हिंदी को भारत के संघ की राजभाषा के रूप में 14 सितंबर-1949 को स्वीकृति मिलने के ऐतिहासिक अवसर से संबंधित तथा राजभाषा की विकास यात्रा पर निर्मित 5 चुनिंदा वृत्तचित्रों का, 14 सितंबर-2020 को, 24 घंटे के लिये नि: शुल्क ऑनलाइन प्रदर्शन किया जाएगा l इन वृत्तचित्रों में बच्चों द्वारा संविधान सभा की बैठक का गठन, कार्रवाई तथा विभिन्न राज्यों में हिंदी की लोकप्रियता और विकास को दर्शाया गया हैl फिल्मों के दृश्य-अवलोकन हेतु, कृपया www.filmsdivision.org पर लॉग ऑन करें और ” डॉक्यूमेंट्री ऑफ़ द वीक” पर क्लिक करें, या फिर…

Read More

स्कूली बच्चों को नई खोज के लिए प्रोत्साहित करने का कदम नवाचार पिरामिड के आधार को विस्तार दे रहा है

manak

कल्पनाशील दिमाग वाले बच्चे अपनी और आस-पास की समस्याओं के नए समाधान खोज सकते हैं। सरकार इस कल्पना को विस्तार देने के लिए लगातार प्रयास कर रही है और नवाचार पिरामिड की नींव को विस्तार दिया जा रहा है, जो कि बच्चों को विज्ञान और प्रौद्योगिकी को आधार बनाकर दिन-प्रतिदिन की समस्याओं के समाधान ढूंढने के लिए प्रोत्साहित करता है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) इस तरह के मौलिक विचारों का स्वागत करता है। इसके अलावा मेधावी छात्रों को जिला, राज्य, और राष्ट्रीय स्तर की प्रदर्शनी आयोजित करने के साथ-साथ…

Read More

ऑनलाइन सामानों की पैकिंग में इस्तेमाल होने वाले केवीआईसी कागज़ों को पसंद कर रहे लोग

kvic

केवीआईसी हाथ से बने लिफाफा पैकेट और हाथ से ही बने कार्टन बॉक्स का इस्तेमाल सामानों की पैकिंग के लिए कर रहा है। प्लास्टिक का इस्तेमाल महज़ तरल पदार्थों की पैकिंग में किया जा रहा है ताकि परिवहन में तरल पदार्थों का लीकेज न हो। केवीआईसी फेस मास्क की सुरक्षित डिलीवरी के लिए पहले पन्नियों का प्रयोग करता था लेकिन इसके लिए भी जल्द ही केले के रेशों से बने विशिष्ट लिफाफों का प्रयोग शुरू करेगा। माना जा रहा है कि खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग ने यह कदम राष्ट्रीय हरित…

Read More

17 सितंबर, 2020 तक प्रायद्वीपीय भारत में बारिश संबंधी गतिविधयों में वृद्धि हो सकती है

mausam vigyan

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केन्द्र/ क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केन्द्र, नई दिल्ली के अनुसार : उत्तरी आंध्र प्रदेश तट से दूर पश्चिम बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। इसके अगले 2-3 दिनों के दौरान तेलंगाना में मध्य भारत की ओर और पश्चिम-उत्तर की ओर बढ़ने की संभावना है। मॉनसून गर्त अपनी सामान्य स्थिति के दक्षिण में स्थित है। दक्षिण गुजरात तट से उत्तर कर्नाटक तट तक एक अपतटीय कम दवाब का क्षेत्र बन रहा है। उपरोक्त निम्न दबाव क्षेत्र के प्रभाव में, पिछले…

Read More