वैश्विक स्तर पर कंटेनर की कमी के प्रतिकूल असर को कम करने के उपाय

वैश्विक स्तर पर कंटेनर की कमी के प्रतिकूल असर को कम करने के उपाय

कोविड-19 महामारी के कारण आई अड़चनों की वजह से शिपिंग फ्रेट रेट जहां उच्च स्तर पर हैं, वहीं वैश्विक स्तर पर कंटेनर की कमी हो गई है। इस समस्या को भारत में भी निर्यातकों द्वारा बार-बार उठाया गया है। एमओसीआई की सभी संबंधित पक्षों के साथ परामर्श में यह बात सामने आई है कि खाली कंटेनरों के निर्यात को नीतिगत कदमों के जरिए हतोत्साहित किया जा सकता है। इस कदम से कंटेनर की समस्या को भी कम किया जा सकता है। मौजूदा व्यवस्था में छह महीने से ज्यादा समय तक…

Read More

क्‍वाड नेताओं ने संयुक्त बयान में हिंद-प्रशांत क्षेत्र को स्वतंत्र और खुला रखने का आह्वान किया

क्‍वाड नेताओं ने संयुक्त बयान में हिंद-प्रशांत क्षेत्र को स्वतंत्र और खुला रखने का आह्वान किया

क्‍वाड देशों के नेताओं की पहली शिखर बैठक कल वाशिंगटन में हुई। अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडेन, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी, आस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने बैठक में भाग लिया। प्रधानमंत्री मोदी ने क्‍वाड को वैश्विक हित के प्रति समर्पित मंच बताया। एक संयुक्‍त वक्‍तव्‍य में क्‍वाड नेताओं ने मुक्‍त और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र का आह्वान किया जो कि समावेशी और लचीला हो। इन नेताओं ने कहा कि समुद्र से जुड़े कानूनों के बारे में संयुक्‍त राष्‍ट्र की संधि का दक्षिण-चीन सागर में पालन…

Read More

एनसीएमसी ने बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवाती तूफान से उत्पन्न होने वाली स्थिति से निपटने की तैयारियों की समीक्षा बैठक की

एनसीएमसी ने बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवाती तूफान से उत्पन्न होने वाली स्थिति से निपटने की तैयारियों की समीक्षा बैठक की

राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति – एनसीएमसी ने कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवाती तूफान से उत्पन्न होने वाली स्थिति से निपटने की केन्द्रीय मंत्रालयों, एजेंसियों और राज्य सरकारों की तैयारियों की आज समीक्षा बैठक की। भारतीय मौसम विभाग के महानिदेशक ने समिति को बंगाल की खाड़ी में बने गहरे विक्षोभ की मौजूदा स्थिति से अवगत कराया। यह विक्षोभ आज शाम तक चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। इसके कल शाम तक उत्तर आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा के तटों पर पहुंच जाने…

Read More

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने आज स्वास्थ्य क्षेत्र में प्रशिक्षित मानव संसाधनों की कमी को युद्ध स्तर पर दूर करने की अपील की

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने आज स्वास्थ्य क्षेत्र में प्रशिक्षित मानव संसाधनों की कमी को युद्ध स्तर पर दूर करने की अपील की

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने आज स्वास्थ्य क्षेत्र में प्रशिक्षित मानव संसाधनों की कमी को युद्ध स्तर पर दूर करने की अपील की। डब्ल्यूएचओ के 1:1,000 के मानदंड के मुकाबले भारत में डॉक्‍टर जनसंख्या के 1:1,511 के निम्‍न अनुपात को देखते हुए, उन्होंने देश के प्रत्‍येक जिले में एक मेडिकल कॉलेज और अस्पताल स्थापित करने के सरकार के लक्ष्‍य के अनुरूप अधिक मेडिकल कॉलेज बनाने की आवश्यकता पर बल दिया। देश में पैरामेडिकल कर्मचारियों की कमी का उल्लेख करते हुए, उपराष्ट्रपति नायडू ने मिशन मोड में नर्सों की जनसंख्या के…

Read More