राष्ट्रपति ने पहले से रिकॉर्ड किए गए वीडियो संदेश के माध्यम से श्री स्वामीनारायण मंदिर, कुंडलधाम द्वारा आयोजित युवा शिविर को संबोधित किया

राष्ट्रपति ने पहले से रिकॉर्ड किए गए वीडियो संदेश के माध्यम से श्री स्वामीनारायण मंदिर, कुंडलधाम द्वारा आयोजित युवा शिविर को संबोधित किया

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने पहले से रिकॉर्ड किए गए वीडियो संदेश के माध्यम से आज श्री स्वामीनारायण मंदिर, कुंडलधाम द्वारा आयोजित एक युवा शिविर को संबोधित किया।

अपने संबोधन में राष्‍ट्रपति ने कहा कि युवा जन समाज के उत्थान और राष्ट्र की प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। युवाओं को सुगम और व्यसन मुक्त जीवन के लिए उचित मार्गदर्शन दिए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने यह भी कहा कि युवा पीढ़ी में भारतीय संस्कृति के जीवन-मूल्यों को स्थापित करने के पवित्र उद्देश्य से आयोजित किए जा रहे इस युवा शिविर को संबोधित करते हुए उन्हें बहुत प्रसन्‍नता हो रही है।

राष्ट्रपति ने कहा कि जहां मंदिर और आश्रम हमारी आस्था और जीवन-निर्माण के केंद्र हैं, वहीं वे गरीबों की मदद और मरीजों की पीड़ा को कम करने के माध्‍यम से राष्ट्र की सेवा के केंद्र भी हैं। उन्हें यह जानकर प्रसन्नता हो रही है कि कुंडलधाम श्री स्वामीनारायण मंदिर ने प्राकृतिक आपदाओं में जरूरतमंद लोगों को सहायता प्रदान करके, गरीबों को मुफ्त भोजन और दवाइयांउपलब्‍ध करा करतथा मंदिर को एक कोविडअस्पताल में बदलकर राष्ट्र सेवा करने का एक आदर्श उदाहरण प्रस्‍तुत किया है।

राष्ट्रपति ने कहा कि हमारी पारंपरिक ग्रामीण जीवन शैली जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने में विश्व समुदाय का मार्गदर्शन कर सकती है। हम पर्यावरण की रक्षा करके और प्रकृति के साथ सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार करके पृथ्वी की रक्षा कर सकते हैं। हम अपनी नदियों, तालाबों, पेड़ों और सभी जीवित प्राणियों की रक्षा करके मानव जाति को बचा सकते हैं। उन्होंने पर्यावरण की रक्षा के लिए कुंडलधाम श्री स्वामीनारायण मंदिर द्वारा शुरू की गई विभिन्न पहल की प्रशंसा की,जिनमें गिर नस्ल की गायों की देखभाल, उतावली नदी का संरक्षण, वृक्षारोपण,जैविक खेती और मंदिर परिसर में आयुर्वेदिक और हर्बल औषधीय पौधों की खेती करना शामिल हैं।

Related posts

Leave a Comment