पर्यटन मंत्रालय ने भारत में MICE उद्योग को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय रणनीति और कार्य योजना के मसौदे पर प्रतिक्रिया आमंत्रित की

पर्यटन मंत्रालय ने भारत में MICE उद्योग को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय रणनीति और कार्य योजना के मसौदे पर प्रतिक्रिया आमंत्रित की

एमआईसीई बैठक, प्रोत्साहन, सम्मेलन और प्रदर्शनियों के लिए एक संक्षिप्त शब्द है। एमआईसीई व्यावसायिक पर्यटन के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है, जो अवकाश पर्यटन के साथ आपस में मेल खाता है। यह तेजी से बढ़ते क्षेत्रों में से एक है और इससे देश को कई फायदे हैं। विशाल क्षमता होने के बावजूद, वैश्विक एमआईसीई कारोबार के लगभग 1 प्रतिशत के साथ भारत अपेक्षाकृत निचले स्थान पर मौजूद है। दूसरी ओर, भारत के पास एक बड़ा निर्गामी एमआईसीई बाजार है और यह महत्वपूर्ण रूप से वृद्धि कर रहा है।

पर्यटन मंत्रालय ने एमआईसीई की अपार क्षमता को पहचाना है और पर्यटन के इस विशिष्ट क्षेत्र के प्रचार और विकास पर सक्रिय रूप से काम कर रहा है। पर्यटन मंत्रालय ने इसके अनुसार भारत में एमआईसीई उद्योग को बढ़ावा देने के लिए एक मसौदा राष्ट्रीय रणनीति और कार्य योजना तैयार की थी, जिसे पर्यटन मंत्रालय की वेबसाइट https://tourism.gov.in/ पर उपलब्ध निम्नलिखित लिंक से “नया क्या है” अनुभाग के तहत पहुँचा जा सकता है।”

मसौदा रणनीति दस्तावेज को अंतिम रूप देने और दस्तावेज को अधिक व्यापक बनाने के लिए आगे बढ़ने से पहले, पर्यटन मंत्रालय ने राष्ट्रीय रणनीति और कार्य योजना के मसौदे पर प्रतिक्रिया/टिप्पणियां/सुझाव आमंत्रित किए हैं। टिप्पणियों को 30 जून, 2021 तक या उससे पहले ई-मेल आईडी: js.tourism@gov.in, bibhuti.dash72@gov.in, prakash.om50@nic.in. पर पर्यटन मंत्रालय को भेजा जा सकता है।

Related posts

Leave a Comment