गुयाना के राष्ट्रपति ने दिल्ली में प्रथम वैश्विक पोषक अनाज (श्री अन्न) सम्मेलन आयोजित करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी की सराहना की

गुयाना के राष्ट्रपति ने दिल्ली में प्रथम वैश्विक पोषक अनाज (श्री अन्न) सम्मेलन आयोजित करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी की सराहना की

गुयाना गणराज्य के राष्ट्रपति डॉ. मोहम्मद इरफ़ान अली ने आज नई दिल्ली के पूसा में प्रथम वैश्विक पोषक अनाज (श्री अन्न) सम्मेलन आयोजित करने के लिए भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सराहना की और कहा कि यह सम्मेलन खाद्य असुरक्षा की विश्व की सबसे प्रमुख चुनौती का सामना करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

डॉ. इरफ़ान अली ने आज एक वीडियो संदेश में संयुक्त राष्ट्र द्वारा वर्ष 2023 को अंतर्राष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष (आईवाईओएम) घोषित करने के सम्मान में मोटे अनाजों के विशिष्ट उत्पादन के लिए अपने देश में 200 एकड़ भूमि की भी पेशकश की। उन्होंने कहा कि इसके बदले भारत इस चमत्कारी भोजन के कृषि उत्पादन और उत्पादकता को बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी और तकनीकी सहायता उपलब्ध कराएगा।

डॉ. इरफ़ान अली ने कहा कि मोटे अनाज न केवल एक किफायती और पौष्टिक विकल्प हैं, बल्कि फसलों का यह समूह जलवायु परिवर्तन की अनिश्चितताओं के प्रति भी अनुकूल है। उन्होंने 17 कैरेबियाई देशों में मोटे अनाजों के उत्पादन और प्रचार में हर संभव सहायता का वादा किया, जो मोटे अनाजों को कैरेबियाई समुदाय में लोकप्रिय बनाएगा।

डॉ इरफ़ान अली ने कहा कि भारत मोटे अनाजों के उत्पादन और निर्यात दोनों में वैश्विक रुप से अग्रणी है और मोटे अनाजों के वैश्विक उत्पादन और लोकप्रिय बनाने में अग्रणी भूमिका निभा सकता है।

Related posts

Leave a Comment