केन्‍द्र सरकार पेट्रोल पर 8 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 6 रुपये प्रति लीटर उत्‍पाद शुल्‍क घटा रही है

केन्‍द्र सरकार पेट्रोल पर 8 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 6 रुपये प्रति लीटर उत्‍पाद शुल्‍क घटा रही है

वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज कहा कि केन्‍द्र सरकार पेट्रोल पर आठ रुपये प्रति लीटर और डीजल पर छह रुपये प्रति लीटर उत्‍पाद शुल्‍क घटा रही है। इससे पेट्रोल पर साढे नौ रुपये प्रति लीटर और डीजल पर सात रुपये प्रति लीटर की कमी होगी।

7/12 We are reducing the Central excise duty on Petrol by ₹ 8 per litre and on Diesel by ₹ 6 per litre.
This will reduce the price of petrol by ₹ 9.5 per litre and of Diesel by ₹ 7 per litre.

It will have revenue implication of around ₹ 1 lakh crore/year for the government.

— Nirmala Sitharaman (@nsitharaman) May 21, 2022

निर्मला सीतारमण ने एक ट्वीट श्रृंखला में कहा कि इससे सरकार के राजस्‍व में तकरीबन एक लाख करोड़ रुपये प्रति वर्ष कमी आएगी। उन्‍होंने सभी राज्‍यों से आम आदमी को राहत पहुंचाने के लिए इसी तरह की कटौती करने का आह्वान किया है। पिछले बार नवम्‍बर में केन्‍द्र सरकार ने जब केन्‍द्रीय उत्‍पाद शुल्‍क में कटौती की थी तो कई राज्‍य सरकारों ने इसका लाभ आम आदमी को नहीं दिया था। उन्‍होंने कहा कि इस वर्ष सरकार प्रधानमंत्री उज्‍ज्‍वला योजना के नौ करोड़ से अधिक लाभार्थियों को प्रति वर्ष 12 सिलेण्‍डर तक दो सौ रुपये प्रति की सब्सिडी देगी। इससे प्रतिवर्ष सरकार पर छह हजार एक सौ करोड़ रुपये का अतिरिक्‍त राजस्‍व भार आएगा। सरकार प्‍लास्टिक उत्‍पादों के विनिर्माण में प्रयोग किए जाने वाले कच्‍चे माल और अन्‍य पदार्थों के सीमा शुल्‍क में भी कटौती कर रही है। इससे उत्‍पादों की लागत में कमी आएगी। इसी तरह लोहा और इस्‍पात के सीमा शुल्‍क में भी कमी की जा रही है। इस्‍पात के कुछ कच्‍चे माल के आयात शुल्‍क में भी कटौती की जाएगी। इस्‍पात उत्‍पादों पर निर्यात शुल्‍क लगाया जाएगा। सीमेंट की उपलब्‍धता बढ़ाने और मालवहन की लागत घटाने के कदम उठाए जा रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment