केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने फिक्की के राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित किया

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने फिक्की के राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित किया

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने आज फिक्की के राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित किया। इस अवसर पर ‘विकसित भारत@2047: विकसित भारत और उद्योग’ विषय पर बोलते हुए, अनुराग ठाकुर ने सबसे पहले करदाताओं के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्‍होंने कहा कि ईमानदार करदाताओं के कारण ही सरकार संग्रह की गई राशि के पैसे-पैसे को सीधे सामाजिक क्षेत्र की तरफ मोड़ने में समर्थ हुई है। उन्‍होंने कहा कि पहले जब आवंटित धन का केवल एक हिस्‍सा ही इच्छित लाभार्थियों तक पहुंच रहा था, आज सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि जारी किया गया सारा पैसा सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में पहुंचे।

यूपीआई को अपने वादों को पूरा करने के सरकार के संकल्प का एक उदाहरण बताते हुए उन्होंने कहा कि जब यूपीआई लॉन्च किया गया था तो इसकी प्रभावशीलता के बारे में बहुत सारे संदेह व्‍यक्‍त किए गए थे, लेकिन आज यूपीआई ने समाज के सभी वर्गों और देश के सभी कोनों में प्रवेश कर लिया है। उन्होंने कहा कि आज समस्‍त वैश्विक डिजिटल भुगतान का 46 प्रतिशत भारत में किया जाता है और दुनिया हमारी तकनीकी क्षमता के लिए हमारी ओर देख रही है।

गरीबों के जीवन को बेहतर बनाने की दिशा में सरकार की प्रमुख उपलब्धियों को सूचीबद्ध करते हुए अनुराग ठाकुर ने कहा कि 40 मिलियन घर, 100 मिलियन शौचालय, 100 मिलियन से अधिक एलपीजी सिलेंडर प्रदान किए गए हैं, जबकि 130 मिलियन से अधिक नल जल कनेक्शन दिए गए हैं। 600 मिलियन से अधिक आयुष्मान भारत लाभार्थी हैं और 800 मिलियन से अधिक लोगों को मुफ्त भोजन मिल रहा है।

अनुराग ठाकुर ने पिछले दस वर्षों के दौरान देश में बुनियादी ढांचे के विकास पर सरकार के फोकस को रेखांकित करते हुए कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण 90 हजार किलोमीटर से बढ़कर एक लाख 50 हजार किलोमीटर हो गया है, हवाई अड्डों की संख्या 74 से दोगुनी होकर 150 हो गई है, एम्स की संख्या 7 से बढ़कर 23 हो गई है और आईआईटी 12 से 19 तथा ग्रामीण सड़कों की लंबाई भी दोगुनी हो गई है। ऐसे ही उपायों के कारण भारत आज विश्‍व की शीर्ष पांच अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो गया है।

देश को एक मजबूत और सक्षम नेतृत्व देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को श्रेय देते हुए उन्‍होंने कहा कि आज विदेशों में भारतीय पासपोर्ट का दबदबा बढ़ गया है और भारत दूसरे देशों से अपने लोगों को निकालने के लिए बड़े-बड़े विवादों में हस्तक्षेप कर रहा है।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि जहां कृषि क्षेत्र में सरकार ने लागत प्लस 50 प्रतिशत के वादे को पूरा किया है, वहीं आज घरेलू उद्योग सरकार की सहायता से तेज गति से विकास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले दस वर्षों में सरकार ने ऐसी नींव रखी है जो देश को 2047 तक एक विकसित राष्ट्र बनने की राह पर ले जाएगी।

अनुराग ठाकुर ने देश की उद्योग जगत की हस्तियों से भारत में निवेश करने के इच्छुक लोगों के साथ साझेदारी करने और भारत की प्रतिभाओं और क्षमताओं का दोहन करने का आह्वान किया, जिससे भारत को विकसित भारत में बदलने के लिएमुख्‍य योगदान मिलेगा।

Related posts

Leave a Comment