आज का अखबार हिंदी 11 मई 2024: आज की ताजा खबर न्यूज़ पेपर

आज का अखबार हिंदी 11 मई 2024: आज की ताजा खबर न्यूज़ पेपर

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चुनाव प्रचार के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा रिहाई के आदेश के बाद जमानत मिलने की खबरें सभी अखबारों में है। हिन्‍दुस्‍तान ने इसे चुनावी बेल बताते हुए लिखा है- प्रचार करेंगे, ऑफिस नहीं जा सकेंगे, 2 जून को करना होगा आत्‍मसमर्पण।

दिल्‍ली एनसीआर में कल आई आंधी और बारिश को पंजाब केसरी सहित सभी अखबारों ने सचित्र देते हुए लिखा है- सडकों पर लम्‍बा जाम लगा, नौ उडानें करनी पडी डाइवर्ट।

नवभारत टाइम्‍स को उम्‍मीद है कि आज और कल भी आंधी और हल्‍की बारिश होगी। पत्र ने आगे लिखा है- करीब सात दिन के बाद प्रदूषण सामान्‍य रहा।

उधर, राष्‍ट्रीय सहारा ने उत्‍तर भारत में जारी भीषण गर्मी पर लिखा है- स्‍वास्‍थ्‍य विभाग अलर्ट, हीट वेव से हीट स्‍ट्रोक के मामले में वृद्धि। पत्र ने जानकारी दी है कि जब पसीना आना बंद हो जाता है तब शरीर में बढने वाला तापमान हानिकारक हो तो है और ऐसे में डॉक्‍टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए।

दिल्‍ली हाईकोर्ट का यह निर्देश कि मानदंडों का उल्‍घंन करने वाले कोचिंग सेंटरों को बंद किया जाए राष्‍ट्रीय सहारा में है। पत्र आगे लिखता है- हाईकोर्ट ने एमसीडी और डीडीए को दिए सख्‍त निर्देश।

अक्षय तृतीया के अवसर पर कल केदारनाथ धाम के कपाट खुलने को दैनिक भास्‍कर सहित सभी अखबारों ने सचित्र दिया है। पत्र कहता है- कडाके की ठंड के बीच भक्‍तों में उत्‍साह की गर्मी, चार धाम यात्रा शुरू। पहले ही दिन रिकॉर्ड टूटा, 32 हजार श्रद्धालुओं ने किए दर्शन।

एयर इंडिया एक्‍सप्रेस की 75 और उडानें हुई रद्द शीर्षक से दैनिक जागरण लिखता है- एयर लाइन ने कल तक परिचालन सामान्‍य होने की उम्‍मीद जताई।

अमर उजाला की खास खबर है- लाल चौक अब दशहत का बाजार नहीं, सजती है सैलानियों की महफिल, देर रात तक पर्यटकों का रहता है जमावडा। पत्र ने झरनों और रंग-बिरंगी रौशनी के बीच सैलफी प्‍वॉइंट का चित्र भी दिया है।

साइबर अपराध से निपटने के लिए एकजुट हो सरकारी एजेंसियां हरी भूमि में है। पत्र के अनुसार धोखेबाजों के नेटवर्कों को नष्‍ट कर डिजिटल खतरों से बचाया जाएगा।

अमर उजाला की सुर्खी है- साइबर अपराधों पर दूरसंचार विभाग और गृह मंत्रालयों ने कसा शिकंजा। बीस लाख कनेक्‍शनों की होगी जांच। संदिग्‍ध संदेश भेजने में लिप्‍त 52 संस्‍थाएं काली सूची में।

राजस्‍थान पत्रिका ने बडे मिशन की तैयारी शीर्षक से लिखा है- रहे न रहे हम दुनिया के दो सौ 75 भाषाएं हमेशा रहेगी चांद पर। पत्र के अनुसार युनेस्‍को ने जापान की एक कंपनी के साथ बनाई योजना।

दैनिक भास्‍कर ने स्‍वच्‍छ अं‍तरिक्ष शीर्षक से लिखा है- अंतरिक्ष का कचरा साफ करेंगे स्‍टार्टअप। ऑटो पैराशूट, रोबोटिक आर्म और खास स्‍पेसक्राफ्ट से 25 हजार बेकार पडे उपग्रह हटाने की तैयारी।

Related posts

Leave a Comment