कोविड-19 के कारण जान गंवाने वाले 16 पत्रकारों के परिवारों को सरकारी सहायता मिलेगी

कोविड-19 के कारण जान गंवाने वाले 16 पत्रकारों के परिवारों को सरकारी सहायता मिलेगी

केंद्र सरकार ने अपनी जान गंवाने वाले 35 पत्रकारों के परिवारों को वित्तीय राहत प्रदान करने के लिए सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव अपूर्व चंद्रा की अध्यक्षता में पत्रकार कल्याण योजना समिति के एक प्रस्ताव को स्‍वीकृति दे दी है। इनमें उन 16 पत्रकारों के परिवार शामिल हैं जिनकी मौत कोविड-19 से हुई है। पत्रकार कल्याण योजना (जेडब्ल्यूएस) के तहत परिवारों को 5 लाख रुपये तक वित्‍तीय सहायता प्रदान की जाएगी। जेडब्ल्यूएस समिति ने जेडब्ल्यूएस दिशा-निर्देशों के अनुसार स्थायी विकलांगता से पीड़ित दो पत्रकारों और गंभीर बीमारियों का इलाज…

Read More

भारत जेनेरिक औषधियों का विश्व में सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता, विश्व में जेनेरिक दवाओं की आपूर्ति में इसकी 20 फीसदी हिस्सेदारी

भारत जेनेरिक औषधियों का विश्व में सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता, विश्व में जेनेरिक दवाओं की आपूर्ति में इसकी 20 फीसदी हिस्सेदारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने आज नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में आयोजित आईपीसी सम्मेलन- 2022 की अध्यक्षता की। इस सम्मेलन में उन्होंने इंडियन फार्माकोपिया (आईपी) के 9वें संस्करण का विमोचन किया। इस अवसर पर केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. भारती प्रवीण पवार भी उपस्थित थीं। इस वर्ष के सम्मेलन की विषयवस्तु ‘भविष्य के लिए चिकित्सा गुणवत्ता पर व्याख्यान’ थी। इस अवसर पर डॉ. मनसुख मांडविया ने भारत के फार्माकोपिया को पूरे विश्व में स्वीकार और सराहना किए जाने की इच्छा व्यक्त की। उन्होंने कहा, “हम जेनेरिक दवा सूत्रीकरण…

Read More

एयर मार्शल एपी सिंह ने सेंट्रल एयर कमांड में एओसी-इन-सी का पदभार ग्रहण किया

एयर मार्शल एपी सिंह ने सेंट्रल एयर कमांड में एओसी-इन-सी का पदभार ग्रहण किया

एयर मार्शल एपी सिंह ने 01 जुलाई, 2022 को सेंट्रल एयर कमांड (सीएसी) में एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ (एओसी-इन-सी) का पदभार ग्रहण किया। एयर मार्शल एपी सिंह को 21 दिसंबर, 1984 को भारतीय वायुसेना की फाइटर स्ट्रीम में शामिल किया गया था। वह राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, डिफेंस सर्विस स्टाफ कॉलेज और राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय के पूर्व छात्र हैं। वे एक योग्य उड़ान प्रशिक्षक और एक एक्सपेरिमेंटल टेस्ट पायलट हैं, उनके पास 4900 घंटे से अधिक का उड़ान अनुभव है। उनके परिचालन कार्यकाल में मिग-27 स्क्वाड्रन के फ्लाइट कमांडर और कमांडिंग ऑफिसर…

Read More

रथयात्रा 2022: रथों की साफ-सफाई की ‘छेरा पहरा’ रस्म पूरी की गई

रथयात्रा 2022: रथों की साफ-सफाई की ‘छेरा पहरा’ रस्म पूरी की गई

पुरी के प्रतीकात्मक राजा गजपति महाराजा दिब्यसिंह देब ने ‘रथयात्रा’ से पहले शुक्रवार को भगवान जगन्नाथ एवं उनके दैवीय भाई-बहन के रथों की साफ-सफाई की ‘छेरा पहरा’ रस्म पूरी की। यह रस्म नौ दिवसीय उत्सव ‘रथयात्रा’ के समय श्रद्धालुओं द्वारा रथों को खींचे जाने से पहले की गई है। कोविड-19 महामारी के कारण दो साल बाद यह रस्म की गई है। परंपरा के अनुसार राजा को चांदी की एक पालकी में श्री जगन्नाथ मंदिर ले जाया गया। वहां उन्होंने रथों पर बैठे देवी-देवताओं की पूजा की और फिर सोने की…

Read More